रविवार, 31 अगस्त 2014

हम कश्मीर नहीं देंगे

हम कश्मीर नहीं देंगे


चाहे जितनी चले शमशीर
हम कश्मीर नहीं देंगे
कश्मीर भारत माँ का चीर
हम मिटने तस्वीर नहीं देंगे ।

कश्मीर कोई मसला नहीं
कि समाधान खोजा जाये
कश्मीर कोई ज़ायदाद नहीं
कि व्यवधान बोया जाये

अलगाववादी जाके मांगे भीख
कांसा लेकर पाकिस्तान से
उठ रही ताल ठोंक कर चीख
समूचे हिन्दुस्तान से

कश्मीर लिए जां देंगे लाखों वीर
बनने मन्सूबों की खीर नहीं देंगे
कश्मीर भारत माँ का चीर
हम मिटने तस्वीर नहीं देंगे ।

कश्मीर देश की ताव,मूँछ,शान,
सिरमौर,जान हमारा है
भारत की ममतामयी गोद का
अहम अंग आन दुलारा है

इतना नाक में मत कर दम
ना घोंप घात कर पीठ में तीर
कश्मीरी हवा,फ़िज़ा भी मेरी है
हद पर फोड़ देंगे नकशीर

छलनी कर देंगे टांगे सीना चीर
बनने मन्सूबों की खीर नहीं देंगे
कश्मीर मेरी भारत माँ का चीर
हम मिटने तस्वीर नहीं देंगे ।
 
कितने नमकहराम भिखमंगे हैं 
खुदा के ये फ़रिश्ते धूर्त हैं जाना
खाते-पीते भारत भूमि का
गाते पाकिस्तान का गाना ,

हम कहते जियो और जीने दो
रहो चैन से ना घोलो मन पीर
हम शेरों की पैदाईश छेड़ो मत
फकीर बन पीटते रहो लक़ीर ,

निचोड़कर बहा देंगे बवासीर
बनने मन्सूबों की खीर नहीं देंगे
कश्मीर मेरी भारत माँ का चीर
हम मिटने तस्वीर नहीं देंगे ।

पापी पाक को लिख रहा तहरीर
एक निशाने से छोड़ेंगे दो-दो तीर
बहा देंगे तेरी नानी के भी नीर
रटना छोड़ दे पृथक कश्मीर

मन को समझा ले धर के धीर
भारत माँ के लाखों बलवीर
तुझे पहुँचा देंगे पाकिस्तान
पहना कर हथकड़ियाँ जंज़ीर

सुप्त चेतनाएं जाग गई हैं
बनने मन्सूबों की खीर नहीं देंगे
कश्मीर मेरी भारत माँ का चीर
हम मिटने तस्वीर नहीं देंगे ।
                            शैल सिंह





                   




  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दिखा दो जोश तरुणाई का

ऐ भारत के मेरे  नौजवानों ललकारो  अपने यौवन को  बाधाओं,व्यवधानों  को काटो, संवारो  अपने लक्ष्यों को,    भरो यौवन में साहस,संकल्प करो अद्भुत क...